जीएनएम नर्सिंग कोर्स क्या है और कैसे करें पूरी जानकारी – GNM Course Details in Hindi

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
(Last Updated On: September 16, 2022)

GNM Course Details in Hindi | GNM Course in Hindi | जीएनएम क्या है | जीएनएम कोर्स कैसे करें | 12th ke bad GNM kaise kare

GNM Course Details in Hindi : जीएनएम मेडिकल फील्ड के अंदर नर्सिंग का एक डिप्लोमा कोर्स होता है जिसमे आपको यह सिखाया जाता है कि आपको पेशेंट का खयाल किस प्रकार रखना है और पेशेंट की देख भाल किस प्रकार करनी है। डॉक्टर के दिए गए दवाइयों को किस प्रकार पेशेंट को खिलाना है या किस प्रकार इंजेक्शन लगाना है। अगर आप भी जीएनएम का कोर्स करने के बाद हेल्थकेयर इंडस्ट्री में अपना योगदान देना चाहते है तो यह आपके लिए एक सुनहरा मौका है। तो चलिए बिना किसी देरी के शुरू करते है जीएनएम के बारे में विस्तार से जानना।

GNM Kya hai?

जीएनएम एक नर्सिंग का कोर्स है जिसे जनरल नर्सिंग और मिडवाइफरी कोर्स हैं जिसके अंतर्गत आपको यह बताया जाता है कि आप किस प्रकार मेडिकल फील्ड में डॉक्टर और पेशेंट के बीच सूत्रदार का काम कर सकते हैं। यह कोर्स 3 साल का होता है और जिसके बाद आपको 6 महीने की इंटर्नशिप भी करनी होती है। जीएनएम आज कल वो कोर्स बन कर उभरा है जिसमे आगे जागे ग्रोथ का स्कोप काफी ज्यादा है जरूरत है तो बस थोड़ी मेहनत और सहन सख्ती की। यह निश्चित है अगर आप अपना काम बड़े ही चाव और कर्तव्यनिष्ठ होकर करेंगे तो आप अपनी करियर में काफी आगे जा सकते है।

GNM Full Form in Hindi and English

GNM की फुल फॉर्म हिंदी में होती है जनरल नर्सिंग और मिडवाइफरी। वही इंग्लिश में GNM की फुल फॉर्म होती है General Nursing and Midwifery

GNM Course kaise kare?

जीएनएम का कोर्स करने के लिए आपको सबसे पहले अपनी कक्षा 12 को पास करना होगा अगर ऐसा नहीं है तो सबसे पहले आपको यह करना होगा। कक्षा 12 को पास करने के बाद अगर आपको किसी गवर्नमेंट मेडिकल हॉस्पिटल या इंस्टीट्यूट से करना है तो आपको उनका खुद का एंट्रेंस एग्जाम देना होगा। अगर आपको आपका जीएनएम का कोर्स किसी प्राइवेट यूनिवर्सिटी या कॉलेज या प्राइवेट हॉस्पिटल से करना है तो वहां का एप्लीकेशन फॉर्म भरना होगा जिसके बाद आपके एडमिशन की प्रक्रिया शुरू हो जायेगी।

GNM Course Eligibility

जीएनएम कोर्स करने के लिए आपको कुछ शर्तों को पूरा करना होगा जिसके बाद ही आप जीएनएम का कोर्स के लिए आगे बढ़ सकते है। जीएनएम कोर्स से जुड़े हुए एलिजिबिल्टी क्राइटेरिया हमने नीचे बताए हुए है। आप देख सकते है।

  • जीएनएम कोर्स करने के लिए आपकी उम्र कम से कम 17 साल होनी चाहिए और ज्यादा से ज्यादा 35 वर्ष तक ही आप इस कोर्स को करने के लिए अप्लाई कर सकते है।
  • जीएनएम कोर्स करने के लिए एलिजिबल होने के लिए आपको आपको आपकी बारवीं बायोलॉजी के सब्जेक्ट के साथ ही पास करनी होगी अन्यथा आप जीएनएम कोर्स करने के लिए एलिजिबल नही हो पाएंगे।
  • जीएनएम कोर्स करने के लिए आपके दसवीं और बारहवीं में कम से कम 50 प्रतिशत मार्क्स आने अनिवार्य है अन्यथा आप यह कोर्स करने के लिए एलिजिबल नही हो पाएंगे।

GNM Course Fees

जीएनएम कोर्स की फीस इस बात पर निर्भर करती है कि आप अपना कोर्स कहा से कर रहे है। अगर आप जीएनएम का कोर्स किसी भी प्राइवेट हॉप्सिटल में कर रहे है तो आपकी फीस लगभग 2,00,000 से 4,50,000 तक हो सकती है पूरे कोर्स की। यह भी इस बात पर निर्भर करता है कि आप प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में भी कहा से जीएनएम का कोर्स कर रहे हो और अगर आप गवर्नमेंट कॉलेज से जीएनएम का कोर्स करने में सफल हो गए तो आपके कोर्स की फीस 50,000 से 70,000 के बीच में होगी।

GNM Job Salary

जीएनएम कोर्स करने के बाद सैलरी की बात करे तो यह भी इस बात पर निर्भर करता है कि आपको कितना समय हो गया आपका करते हुए। अगर आप बिल्कुल नए है तो आपको लगभग 2,50,000 से 3,50,000 लाख रुपए प्रति साल दिए जाते है और अगर आप एक एक्सपीरियंस जीएनएम मिड वाइफरी है तो आपको एवरेज भी 7,50,000 लाख से 8,50,000 लाख रुपए तक प्रदान किए जाते है।

जीएनएम कोर्स करने के बाद की सैलरी इस बात पर भी निर्भर करती है कि आप अपना काम कहा पर कर रहे है अगर आप अपना काम किसी क्लिनिक में कर रहे है तो आपको सैलेरी कम ही मिलेगी और वही आप अपना काम हॉस्पिटल में कर रहे है तो चाहे आप किसी प्राइवेट हॉस्पिटल में काम करो या गवर्नमेंट हॉस्पिटल में आपको काफी अच्छी सैलरी दी जाती है।

Benefits of GNM Course

जीएनएम कोर्स से जुड़े हुए बेनिफिट की बात करे तो वो नीचे लिखे हुए है।

  • सबसे यह आपको एक अच्छा मौका प्रदान करता है जिससे आप हेल्थकेयर के फील्ड में जाकर लोगो की सहायता कर सकते है जब वो बीमार हो और उन्हे ठीक करने में उनकी सहायता कर सकते हो।
  • इस जीएनएम कोर्स को करने के बाद आपको एक सैलरी पैकेज ऑफर की जाती है जो किसी भी व्यक्ति के लिए बेहद जरूरी चीज है।
  • इस कोर्स को खत्म करने ने बाद आप अपना एनजीओ में भी काम कर सकती है और उन जरूरतमंदों की सहायता भी कर सकती है जिनको आपकी हेल्प की सबसे ज्यादा जरूरत है।

निष्कर्ष

हमने इस आर्टिकल में जीएनएम से जुड़ी हुई सारी जानकारी देने की पूरी कोशिश की है अगर आपको इससे जुड़े हुए कोई भी सावाल पूछने है तो आप हमसे कॉमेंट सेक्शन में पूछ सकते है और अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो आप इस आर्टिकल को आगे शेयर भी कर सकते है।

FAQ

जीएनएम कोर्स की फीस कितनी होती है?

जीएनएम कोर्स की बात करे तो यह इस बात पर निर्भर करती है कि आप अपना कोर्स कहा से कर रहे है अगर आप अपना कोर्स गवर्नमेंट कॉलेज से कर रहे है तो आपका पूरा कोर्स 60 हजार से 80 हजार के बीच में हो जायेगा और प्राइवेट में वही चीज 2,50,000 लाख से 3,50,000रुपए तक हो पाएगा।

GNM में कौन कौन से सब्जेक्ट होते है?

जीएमएम में सब्जेक्ट ह्यूमन बॉडी के जुड़े हुए ही होते है आपको मेडिकल की किताबें पढ़नी होती है आपको ह्यूमन बॉडी और पेशेंट केयर से जुड़े हर सब्जेक्ट पढ़ने पढ़ते है।

जीएनएम करने के लिए क्या क्या करना पड़ता है?

जीएनएम का कोर्स करने के लिए आपको बस आपको बारवीं बायोलॉजी सब्जेक्ट के साथ क्लियर करनी होगी उसके बाद आप जीएनएम का कोर्स करने के लिए एवलेबल हो जायेंगे।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment

Your email address will not be published.